Saturday , May 21 2022

सर्दियों में आयुर्वेद के अनुसार ऐसे रखें अपने खान-पान का ध्यान

सर्दियों का मौसम अपने साथ सर्दी, फ्लू और माइक्रोबियल संक्रमण जैसी बीमारियों को लेकर आता है। ऐसे में इम्युनिटी मजबूत रखना बहुत जरूरी है। इसलिए, सभी महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से भरपूर पौष्टिक फूड्स को डाइट में शामिल करें। सर्दियों के मौसम में आप कौन से फूड्स डाइट में शामिल कर सकते हैं।

रूट वाली सब्जियां
रूट वाली सब्जियां जैसे गाजर, शकरकंद, मूली, चुकंदर सहज रूप से गर्म होती हैं। इन सब्जियों को पाचन की प्रक्रिया के दौरान अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है। इससे शरीर के तापमान में वृद्धि होती है। इसके अलावा वे विटामिन, मिनरल और फाइबर में भी उच्च हैं।

हरी पत्तेदार सब्जियां
सर्दी के मौसम में हरी पत्तेदार सब्जियां ताजी मिलती हैं। ये विटामिन, मिनरल, एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर से भरपूर होती है। ये बीमार होने के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं, ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करते हैं और ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। इसलिए अधिक मात्रा में इनका सेवन करें।

मसाले

काली मिर्च, मेथी, अजवाइन, अदरक, लहसुन, जीरा जैसी जड़ी-बूटियां और मसाले खांसी और फ्लू से लड़ने में मदद करते हैं। ये भूख और पाचन को उत्तेजित करते हैं और ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करते हैं। आयुर्वेद के अनुसार तुलसी शरीर को सभी श्वसन विकारों से लड़ने में मदद करती है और ये एक एंटीसेप्टिक और रोगाणुरोधी एजेंट भी है। इसी तरह, हल्दी में पाया जाने वाला एक सक्रिय तत्व करक्यूमिन एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है और ऑक्सीडेटिव क्षति से लड़ने में मदद करता है। ये हमारी इम्युनिटी को बढ़ाता है। लहसुन में एलिसिन होता है। इसमें इम्युनिटी बढ़ाने, जीवाणुरोधी और एंटीवायरल गुण होते हैं।

फलों का सेवन
रोजाना कम से कम दो फल खाएं। सर्दियों के दौरान संतरे, नींबू और अमरूद जैसे खट्टे फलों से परहेज करने के बारे में एक आम मिथक है क्योंकि इन्हें ठंडा माना जाता है। इससे खांसी और सर्दी हो सकती है। लेकिन तथ्य ये है कि ये विटामिन सी में उच्च होते हैं जो पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ाते हैं। ये इम्यूनिटी को बढ़ावा देते हैं। खांसी और सर्दी के इलाज में मदद करते हैं।

दाल
दाल से बने व्यंजन जैसे खिचड़ी, दाल का सूप, मूंग दाल का हलवा सर्दियों में प्रोटीन, फाइबर और मिनरल से भरपूर व्यंजन हैं।

रागी और बाजरा
रागी और बाजरे से बनी रोटी काम्प्लेक्स कार्ब्स, फाइबर और मैग्नीशियम जैसे मिनरल प्रदान करते हैं। ये हाई ब्लड प्रेशर और दिल के दौरे जैसे हृदय रोगों को रोकने में मदद करते हैं जिनकी घटना सर्दियों के दौरान अधिक होती है।

सूखे मेवे और बीज

तिल, मूंगफली, बादाम, खजूर, मेथी के बीज जैसे मेवा और तिलहन प्रोटीन, कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन और फाइबर से भरपूर होते हैं। तिल चिक्की, मूंगफली के लड्डू और खजूर की बर्फी जैसे फूड्स इम्युनिटी को बढ़ाते हैं। ये मेटाबॉलिज्म को तेज करते हैं।

हाइड्रेटेड रहें

गर्म रहने के लिए हाइड्रेटेड रहें। पानी आपके आंतरिक तापमान को नियंत्रित करने में मदद करता है। प्यास न लगने पर भी खूब पानी पिएं।

घी

आयुर्वेद चावल और खिचड़ी और यहां तक कि सर्दियों की मिठाइयों में घी डालने की सलाह देता है क्योंकि ये पाचन में मदद करता है और शरीर को हेल्दी फैट प्रदान करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

13 + four =