Saturday , May 21 2022

… डीएम साहिबा नशे से युवाओं को बचा लीजिए

ऊंचाहार बनता जा रहा नशा कारोबारियों का गढ़

यहां सबसे ज्यादा गांजे का होता है अवैध कारोबार

गली गलियारों तक फैल रहा नशे का अवैध कारोबार

युवाओं की नशों में घुल रहा है नशा

खबर में क्षेत्र के प्रमुख नशा कारोबारियों का बड़ा खुलासा

सारा समय न्यूज नेटवर्क
ऊंचाहार रायबरेली। क्षेत्र के गंगा कटरी इलाकों से सुरु होकर गांवों और गलियारों तक नशे के अवैध कारोबार जमकर फैले हुए हैं ,दिन प्रतिदिन नशा कारोबारियों का दायरा बढ़ता जा रहा है लेकिन संबंधित अधिकारियों के जूं तक नहीं रेंग रही है । जानकार सूत्र बताते हैं कि हल्का अधिकारियों की मिली भगत से नशा कारोबारियों के अड्डों में बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है।
मामला कई बार मीडिया की सुर्खियों में आया लेकिन नशे के अड्डों तक जिम्मेदार अधिकारी नही पहुंच सके ।
अब इसे स्थानीय अधिकारियों की उदासीनता कही जाए या संलिप्तता ये बड़ा सवाल है।
नशे के बढ़ते कारोबार से जहां एक तरफ कारोबारी दिन पर दिन फलते फूलते दिखाई दे रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ अधिकांश युवा नशे की गिरफ्त में पहुंच रहे हैं।
नशा कारोबार की अगर बात की जाए तो अभी तक देशी कच्ची शराब का गांवों में चलन था लेकिन अब अवैध गांजे का कारोबार तेजी से फैल रहा है।

आबकारी विभाग का एक आरक्षी नशा कारोबारियों से लेता है माहवारी

सारा समय न्यूज नेटवर्क
ऊंचाहार। बताया जा रहा है कि यादव उप नाम से क्षेत्र में विख्यात एक आबकारी विभाग का आरक्षी, नशे के अवैध कारोबार को बढ़ावा देने में अहम भूमिका निभा रहा है यही नहीं हल्के के सिपाही भी मामले में पीछे नहीं हैं ,बताया जा रहा है कि नशा कारोबारियों से हल्का सिपाही भी अवैध वसूली करके कारोबारियों को संरक्षण देने का काम करते हैं।

वसूलीकर्ता आबकारी सिपाही का मुख्य नशा कारोबारी से कनेक्शन

ऊंचाहार।आबकारी आरक्षी का क्षेत्र के मुख्य नशा कारोबारी से तगड़ा कनेक्शन है।
मीडिया के संपर्क में आए आबकारी के आरक्षी ने बताया कि कारोबारी यादव जी (उपनाम ) आरक्षी का रिश्तेदार है।
जानकर बताते हैं कि हल्के के सिपाही के अलावा 3 से पांच हजार रुपए छोटे अड्डो से तथा बड़े अड्डो से 10 हजार से बड़ी डील तक (सेटिंग के अनुसार)
वसूली की जाती है।
ये बात और है कि इस सम्पूर्ण प्रकरण की जानकारी विभागीय डी0ओ0 या कोतवाल स्तर तक न हो लेकिन निचले स्तर पर वसूली का ये क्रम निरंतर चल रहा है।

इनसेट
नशे के प्रमुख ठिकानों का खुलासा

सारा समय न्यूज नेटवर्क
ऊंचाहार। अवैध गांजे का कारोबार रायबरेली प्रतापगढ़ सीमा से सुरु होकर कंदरावा,सराय हरदो,
पूरे भटनिया मजरे कंदरावा , पचखरा मोड़ दौलतपुर,कोटिया चित्रा , पिपरहा,रामचंद्र पुर,बाबूगंज ,पसिया बाजार,जैसे गांजा व्यवसाय के दर्जनों प्रमुख अड्डे संचालित हैं लेकिन जिम्मेदारों के जूं तक नहीं रेंग रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

one × 3 =